12 दिसंबर 2016

कविता: दुआ

दुआ कौनसी मांगें आपके लिए
जब आपका होना ही है दुआ हमारे लिए
दुआ किससे मांगें हम आपके लिए
जब खुदा भी तो आप ही हैं हमारे लिए



अन्य मधुर कविताएं:
Twitter: @Chaitanyapuja