Search

19 अक्तूबर 2016

सिर्फ उनको

भीड़ में, तनहाई में 
दिन में, रात में
ख्वाबो में, खयालों में
सवालों में, जवाबों में

ख़ामोशी में, बातों में
दिल के जज्बातों में

Image: Lily flower

दिल सोचता है सिर्फ उनको 



वो मुस्कुराता चेहरा
वो प्यारासा चेहरा
वो मासूम आँखें

दिल  देखता है सिर्फ उनको
दिल ढूंढता है सिर्फ उनको

जानता नहीं है क्यों?
जानता नहीं है कैसे?

दिल चाहता है सिर्फ उनको
दिल लिखता है सिर्फ उनको

सपने सजाता
कविता लिखता
खुदसे ही मुस्कुराता

ये दिल सोचता है सिर्फ उनको
ये दिल जानता है सिर्फ उनको

क्या हुआ है ये खुदको 
और क्या है होना आगे
पूछता है पगला
तनहा बेचैनी में

दिल प्यार करता है सिर्फ उनको
ये दिल चाहता है सिर्फ उनको

दिल ही दिल में
खुदसे ही

ये दिल पुकारता है सिर्फ उनको
ये दिल पूजता है सिर्फ उनको
सिर्फ उनको 
सिर्फ उनको 

अन्य कविताएं: