प्रार्थना: अर्पित

हिन्दू संस्कृति के अनुसार धार्मिक व्रत और ईश्वर की उपासना के लिए वर्ष का सबसे उत्तम समय चातुर्मास चल रहा है। इन चार पवित्र महीनों में विभिन्न व्रतों का पालन भगवान के भक्त कर रहे हैं। लगभग हर दिन, वार या तिथि को कोई ना कोई व्रत, उपवास, पूजा विशेष होते हैं।

चातुर्मास के निमित्त ये प्रार्थना प्रस्तुत है। वर्ष के इन चार महीनों के साथ ही जीवन के हर क्षण में प्रभु की आराधना स्वाभाविक रूप से होती रहे ऐसी आदर्श स्थिति, भक्ति की परम अवस्था -- भक्तियोग की ह्रदय में जाग्रति के लिए मेरे सखा, मेरे प्राण, मेरे जीवन भगवान के चरणकमलों में ये प्रार्थना है। उन्होंने सख्यभक्ति, प्रेमाभक्ति जीवन में लायी अब आत्मनिवेदन भक्ति के लिए यह प्रार्थना उन्हींको 'अर्पित '।


उन्होंने सख्यभक्ति, प्रेमाभक्ति जीवन में लायी अब आत्मनिवेदन भक्ति के लिए यह प्रार्थना उन्हींको 'अर्पित '। 

Text Image for Hindi Prarthana Arpit


हर विचार मन में जो उठे
 पूजा वह बन जाए
आपही की

हर शब्द जिव्हा जो कहे
प्रार्थना एक बन जाये
आपही की 

स्वप्न जो मन देखने लगे,
खुली और बंद आँखों से
 देखें बस
आपही को

आरम्भ, मध्य और अंत में भी
हर कार्य मेरा एक पूजा बन जाए
आपही की

और हर पूजा जो हो मेरे मन से
हो आपही की 

हर पूजा, हर रूप में,
 स्वीकारें उसे मुस्कुराते हुए आपही
हे प्रभो! स्वीकारें उसे मुस्कुराते हुए आपही

मनके गुणदोष आपको ही समर्पित
आप पावन करें अब ये जीवन 
सदासे से आपही को अर्पित

ट्विटर: @Chaitanyapuja_

This prayer is available in English: Solace In God

चैतन्यपूजा में चातुर्मास के लिए विशेष चुनी हुई प्रार्थनाएं: 
चैतन्यपूजा में प्रकाशित होनेवाली नई प्रार्थनाएं और स्तोत्र अपने इनबॉक्स में प्राप्त करने के लिए आज ही सब्स्क्राइब करें
सब्स्क्राइब करने के लिए कृपया अपना ईमेल पता नीचे दिए बॉक्स में लिखें और सब्स्क्राइब को दबाएं

Enter your email address:





Delivered by FeedBurner

टिप्पणियां