Search

22 सितंबर 2011

हँसता हुआ चंदा

पूनम के चन्द्रमा का सौंदर्य ऐसा होता है की कोई भी कवी बन जाएँ चन्द्रमा के सौंदर्य पर आज तक कितनेही महान कवियों ने अनुपम रचनाये की है 

एक दिन ऐसेही चन्द्रमा के सौंदर्य ने मुझे भी मोह लिया और एक नयाही भाव ह्रदय से प्रस्फुटित हुआ, यह भाव अंग्रेजी में मेरे The Smiling Moon स काव्य में अभिव्यक्त हुआ है, इसी भाव की यह हिंदी अभिव्यक्ति, माँ शारदे की कृपासे एक ही काव्य विभिन्न भाषाओं में प्रस्तुत हो रहा है 
आपने अंग्रेजी काव्य को बहुत सराहा है, आपको हिंदी भाव भी अवश्य अच्छा लगेगा


हे सुन्दर चंदा......

यह हसता हुआ चंदा 
आज गाने को कह रहा है 
गीत एक प्रेम का 
ह्रदय गाने को कह रहा है 
चंदा के शीतल किरणों जैसा 
प्रेमभरा गीत मेरे जीवन का 
गीत मेरे ह्रदय का 
गीत अनमोल शांति का 
चंदा के शुभ्र शीतल प्रकाश जैसा 
गीत चिरंतन आनंदका 
चन्दाके चिरंतन सौंदर्य जैसा 
हँसते हुए पूनम के चंदा जैसा 
हे चंदा! आज तुमने मुझे 
फिरसे मुस्कुरा दिया 
एक बात तो बता 
रहस्य का है इस सौंदर्य का 
तुम्हारी चिरंतन मुस्कराहट का 
क्या है यह प्रेम या है 
यह शीतल प्रकाश तुम्हारा 
जो तुमने अंधियारी रातों में 
है फैलाया 
यह सुन्दरता मुझे भी दो ना 
प्रेम और प्रकाश इस चेहरे पे दो ना 
मुझे भी तो फैलाना है 
प्रेम और ज्ञान का प्रकाश 
निराश अँधियारी रातोंमें 
निराश अँधेरे जीवन में 
हे चंदा! 
तुमने मेरी मुस्कराहट 
वापस लौटायी
तुम्हारी सुन्दरता भी अब दो ना
हर चेहरे पे मुस्कराहट लानी है 
दु:ख संताप से पीड़ित है हर ह्रदय
उस संताप को प्रेम से मिटाने
एक और मुस्कराहट दो ना 
मै नहीं देख सकती 
एक भी दु:खी ह्रदय 
एक भी हताश चेहरा 
क्या तुम मुझे ऐसी सुंदरता दोगे ?
हे हँसते चन्द्रमा,
क्या यह कृपा मुझपर करोगे?
हे ईश्वर के सुन्दर रूप 
क्या यह कृपा मुझपर करोगे?

प्रतिमा सौजन्य : freefoto.com अनेको धन्यवाद!
मेरे हिंदी और अंग्रेजी भावाकाव्यों की लिंक्स गुरुकृपा ब्लॉग के इस पृष्ठ पर:  Poems

5 टिप्‍पणियां:

  1. जय श्रीकृष्ण मनीषा जी| चैतन्यपूजा में आपका स्वागत....आपके प्रेम भरे पुष्पके लिए धन्यवाद| :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. जैसे यह चंदा अपनी टिमटिम रौशनी से पुरे विश्व में रोशनी फैलाता है, वैसे ही आप अपने सुन्दर कव्यपुश्पो की खुसबू से यह पुरे ब्लॉग्गिंग जगत को महका रही है... आप चंदा से वो चीज़ मांग रही है जो उसने आपको पहले ही से दे राखी है. बहुत खूब मोहिनी :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. आरती देरी के लिए क्षमस्व|......कितनी सुन्दर बात कही है आपने, आपके लिए और आपके ब्लॉग के लिए मुझे यही कहने का मन हो रहा है| :)

    उत्तर देंहटाएं
  4. kash ishwar ye mujh par bhi krupa barsaae.aur is diwali par aapke man mandir ko bhi aashirwad se bhar de....diwali ki hardik shubhakamnaein....

    उत्तर देंहटाएं