Search

30 जून 2016

पंखुड़ियाँ: दिल की तेज धडकनें क्या कहती है...

मौसम इतना खूबसूरत है कि प्यार पर लिखे बिना रहा नहीं जाता...
प्यार की कुछ पंखुडियां जो पहले ट्वीट की थी कुछ नई पंखुड़ियों के साथ  


Image: Rose Leaves

गुलाब के फूल तो खुबसूरत होते ही हैं, पर ये गुलाब के पौधे के पत्ते कितने खुबसूरत हैं न?

अगर प्यार बंधन है

तो कोई अनजानी डोर हमें बांधे रही है
अगर प्यार आझादी है
तो ये खूबसूरत तोहफा हमें मिला है
अगर प्यार दिलों का रिश्ता है
तो हमारा रिश्ता समय से परे है
दुनिया की रस्मों रिवायतों से परे
तुम्हारा मेरा रिश्ता है


20 जून 2016

इंस्टेंट योग के प्रचार प्रसार में वास्तविक योग कितना?

देश की समस्याओं के बीच योग दिवस के सरकारी प्रचार प्रसार पर दिया जा रहा अत्यधिक ध्यान और योग के महत्त्व को विचित्र करके प्रचारित करना इस विषय पर आजका आलेख अगर आपको प्रवाह में बहते जाना पसंद नहीं, अगर आपको आवश्यक प्रश्न उठाना और पूछना पसंद है तो ये आलेख आपके लिए है। 

15 जून 2016

व्यंग: दुनिया के विकास का मॉडल

मोदीजी की उर्जा और कार्यशीलता को देखकर लगता है, दुनिया का विकास अब होनेही वाला है आप सब तो जानते ही हैं कि मैं मोदीजी से कितनी प्रभावित हुँ। मैंने व्यंग उनके भाषणों से ही सीखा। 

प्रतिमा: दुनिया के विकास का मॉडल


06 जून 2016

व्यंग: हसते हसते सूखे और महंगाई से लड़ने के उपाय

मैंने दो वर्ष में देश का कितना विकास हुआ ये टीवी पर विस्तार से देखा, और रोज विज्ञापन भी देखती हूँ। पर मोदीजी से नफरत करनेवाले लोग इस विकास को मानते ही नहीं। माना कि किसान आत्महत्या कर रहे हैं, माना कि गर्मी और सूखे से परेशान पानी लाते लाते बच्चे मर रहे हैं, माना कि कुओं में डूबकर लोग मर रहे हैं; पर इस अँधेरे में भी सरकारी विज्ञापन बनाना कहाँ मना है? दो वर्ष के विकास की सतही चर्चा करना कहाँ मना हैं?