Search

22 मार्च 2016

श्रीरामस्तोत्र: श्वास तुम, ध्यास तुम

प्रभु श्रीरामनाम का स्तोत्र

श्वास तुमध्यास तुम
ध्येय तुम, ध्यान तुम
कर्म तुम, कार्य तुम

12 मार्च 2016

कविता: कैसे करें राष्ट्रभक्ति?

जहाँ निरपराध को गुनहगार ठहराया जा सकता है,
जहाँ देश को लूटकर भागना भी आसान है,
जहाँ मासूमों की आत्महत्या को फैशन समझा जाता है,
जहाँ थोडीसी रिश्वत बड़े बड़े गुनाह साफ़ कर देती है,

06 मार्च 2016

क्या फेमिनिस्म केवल नारीवाद है?

मार्च को मनाए जा रहे आंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर आज का आलेख फेमिनिस्म और फेमिनिस्ट व्यक्तियों की अक्सर आलोचना होती है फेमिनिस्म का हिंदी और मराठी अर्थ नारीवाद किया जाता है फेमिनिस्म को समाज में किस नजरिए देखा जाता है वास्तव में फेमिनिस्म क्या है इस विषय पर विचारमंथन