Search

27 दिसंबर 2014

कविता: नन्हें सितारे

आज सुबह सुबह जब मैं उदास बैठी समाचार पढ़ रही थी, कुछ दोस्त आएं मुझे मुस्कुराने ...

06 दिसंबर 2014

कविता: अदृश्य जादुगर

अभी मैंने खिडकीसे सुंदर से रंग देखें, ठीकसे देखने के लिए पडदा हटाया और… 

28 नवंबर 2014

कविता: ठण्ड ठण्ड ठण्ड


खुबसूरत सी ठण्ड शुरु हो गयी है, और मुझे यह ठण्ड बहुत प्रसन्न करती हैं क्योंकी हमारे यहाँ साल के अधिकतर समय गर्मी ही बहुत होती है | 

ठण्ड के नाम कुछ पंक्तियाँ..  


ठण्ड ठण्ड ठण्ड
सुबह शाम दिन रात

25 नवंबर 2014

दलित अत्याचारों पर 'चुप्पी' क्यों?

इस दिवाली में जब हम अपने मित्रों और परिवार के साथ खुशियाँ मना रहें थे, महाराष्ट्र में एक दलित परिवार में तीन लोगों के हत्याकांड का समाचार आया| हत्याकाण्ड भीषण था, एक ही परिवार के तीन लोगों को मारकर उनके टुकड़े टुकड़े कर दिए गए थे|

इस तरह की दिल दहला देने वाली घटनाओं के समाचार हम सुनतें हैं!

जात पंचायत के क्रूर आदेशों की घटनाएँ भी सुनने में मिलती है!
इसके अलावा ऐसी घटनाओं के बाद पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के भी समाचार मिलतें हैं |
......

लेकिन, आगे क्या होता है?

04 नवंबर 2014

प्यार भी अजीब पागल है...

प्रेम में पागल प्रेमी क्या क्या सोचतें है, लोग उन्हें बिलकुल पागल मानतें हैं पर उस पागलपन में वो कितने खुश हैं यह तो वही जाने....

ऐसीही कुछ सुंदर, प्यारीसी और मीठीसी भावनाओं पर यह काव्य,

प्यार भी अजीब पागल है 
क्या क्या खयाल दिल में लाता है 

23 अक्तूबर 2014

आज दीपावली का प्रकाश जगमगाए

प्रतिमा : चैतन्यपूजा की ओर से दीपावली का इ शुभेच्छा पत्र




अमावास की काली अन्धियारी रात 
और ह्रदय में बैठा तम विराट 
भेदने हजारों दीप आए 
आज दीपावली का प्रकाश जगमगाए 

18 सितंबर 2014

आज मैंने क्षितिज छू लिया ...

एक अनजान रास्ता जो कहाँ जाएगा ये पता नहीं, मंझील का विचार मन में नहीं,
दोनों तरफ लहलहाते खेत, खेतों के बाहर छोटे छोटे हँसते मुस्कुराते फूल जिनका शायद कोई नाम नहीं.. 

और सर पे दूर दूर तक केवल खुला आसमान...

सपना सा लगता है न?  

बस ऐसाही हुआ मेरा अनजान सफ़र 

Mumbai-Agra Highway



और फिर ह्रदय ने गाया यह गीत...

10 सितंबर 2014

...अब तो इन्सानियत के हिमायती बन

भारतीय सेना ने काश्मीर में ७६५०० से अधिक लोगों की जान बचायी है. और भारतीय सेना का राहतकार्य दिन रात चल रहा है. अलगाववादियों की नफरत का निशाना भारतीय सैन्य हमेशा से रहा है. नफरत से भरे इस दुष्प्रचार में आंतरराष्ट्रीय प्रसारमाध्यम भी हमारी सेना के विरुद्ध बोलने से नहीं चूकते. 

आज सच्ची इन्सानियत किसने दिखाई है, यह सब देख रहें हैं फिर भी सेना का कर्तव्य क्या है यह पृथकतावादी समझा रहें हैं. अलगाववाद की नफरत का जहर एक क्षण के लिए भी थमता नहीं.  

इसी  विषय पर दिल से निकली यह आवाज ...

25 अगस्त 2014

श्रीशिवलीलामृतग्रन्थ कथा सार - ज्ञान और भक्ति के आध्यात्मिक सन्देश

आजका आलेख मेरे बंधू ज्ञानेश और मेरी प्रस्तुती है यह कल्पना ज्ञानेश की है, उन्होंने इसे लिखा भी है, मैंने इसमें कुछ और पहलुओं का समावेश किया है यह हमारे ब्लॉग पे पहला प्रयोग है जिसमें एक आलेख में एक ही विषय पर अलग अलग पहलू एक साथ मिलाए गएँ हैं और उसे शिवलीलामृत की कथासहित सन्देश रूप बनाया गया है 

17 अगस्त 2014

कृष्ण की मोहिनी - भावस्पंदन

चैतन्यपूजा में सम्मीलीत होने वाले सभी दोस्तों को जन्माष्टमी की बहुत बहुत शुभकामनाएँ!


Image: Harikrishna - Bal Krishna


हम सबके प्यारे, सबके दुलारे, माखनचोर, हमारे ह्रदय चोर नटखट कृष्ण के जन्मदिन की ढेरों बधाईयाँ! 

15 अगस्त 2014

स्वर्ग से भी सुंदर है मेरी भारतमाता

भारतवर्ष के स्वतंत्रता दिवस पर सभी पाठकों को हार्दिक बधाईयाँ  ... :)

23 जून 2014

आंदोलनों की दिशा और सार्थकता – चिंतन

पिछले करीब दो ढाई वर्षों से सोशल मिडिया के माध्यम से लोगों से बहुत चर्चा करने  का अवसर मिला पिछले दो-तीन वर्षों में सशक्त आन्दोलन भी हुए है परन्तु पिछले कुछ दिनों से एक विचार मन में आ रहा है, विविध आन्दोलनो  की दिशा कितनी सही है? क्योंकी ऐसा देखने में आया है, की  आंदोलनों में गहराई से समस्या के मूल में जाने का प्रयास नहीं होता, लोग एक ही समय पर परस्परविरुद्ध विचारों का स्वीकार करके के वह जीने का और औरों को सीखानेका प्रयास करतें हैं – ऐसे विचित्र प्रयास में आन्दोलन पराजित होता है – (नेता शायद जीत भी जातें होंगे) ऐसे ही कुछ मुद्दों की चर्चा इस आलेख में है

03 अप्रैल 2014

मुखवटों की दुनिया

आज का काव्य आज की राजनीती और चुनावी गर्मी में बदलते रंग और मुखवटों के ऊपर हैं|

मुखवटों की दुनियामें खड़ी अजनबीसी
अकेली हूँ आज मैं, बन गई बेजानसी

12 जनवरी 2014

स्वामी विवेकानंद - शब्दकाव्यपूजा


स्वामी विवेकानंदजी की १५१ वी जयंती की सबको हार्दिक शुभकामनाएँ! स्वामीजी की जयन्ती राष्ट्रीय युवा दिन के रूप में मनायी जाती है