Search

25 नवंबर 2012

चैतन्यपूजा हर क्षण होती रहे

हे प्रभो यह चैतन्यपूजा हर श्वास से होती रहे 
तेरी आराधना हर क्षण में होती रहे
सुख - दुःख के क्षण में अविचल रहूँ 
तेरे प्रेम में मन हर क्षण लीन रहे 

हे प्रभो यह चैतन्यपूजा हर श्वास में होती रहे 
हे प्रभो यह चैतन्यपूजा हर श्वास में होती रहे


चैतन्यपुजा ने दो वर्ष पुरे किये और यह साधना - आराधना नित्य चलती रहेगी । पूजा अकेले हो तो व्यक्तिगत हो जाती है, सब मिलके करें तो सारे समाज के अभ्युदय का कारण बनती है । क्योंकी पूजा में सबका सहयोग होता है । आप सबके मेरे साथ होने से यह पूजा अतिशय दिव्य बन गयी है। मेरे दोष - अहंकार सबका नाश लिखते रहनेसे हो रहा है और आप सबके साथ होने से छोटीसी लगनेवाली यह पूजा धीरे धीरे विश्व में फ़ैल रही है ।

परम पूजनीय सद्गुरुदेव श्री नारायणकाका महाराज से मेरी यही प्रार्थना है की जीवन के हर क्षण में हर रूप में अभिव्यक्त महान चैतन्य की पूजा ऐसीही चलती रहे । श्री गुरुदेव दत्त । 

6 टिप्‍पणियां:

  1. प्रभू आपकी इच्छा की पूर्ति करें
    अरुन शर्मा
    www.arunsblog.in

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. बहुत बहुत आभार अरुण शर्मा जी :)

      हटाएं
  2. यह मेरा परम सौभाग्य है की इस ब्लॉग के माद्यम से आपके विचारों को पढने का अवसर प्राप्त हुआ। आपकी प्रार्थनाओं में सहभागी होने मिला। आपको अनेको धन्यवाद, मैं आशा करती हूँ की हमारी यह पूजा निरंतर चलती रहे और हमे एक बेहतर इंसान बनने की प्रेरणा देती रहे। बहुत बहुत शुभकामनाए :)

    उत्तर देंहटाएं

चैतन्यपूजा मे आपके सुंदर और पवित्र शब्दपुष्प.........!