Search

13 अक्तूबर 2011

खामोश पल


अध्यात्म  जानना और जीवन में सहजता से आना इसमें बहुत अंतर है| जानना पहली स्थिति है| पर सच्चा आनंद तो अध्यात्म जीवन में सहजता से आने में ही है | मै बचपन यह बातें पढ़ती आ रही हूँ की संसार में रहकर भी अध्यात्म ज्ञान मिल सकता है | पर मुझे यह संभव नहीं लगता, कुछ एकांत, सम्पूर्ण एकांत जीवन बदल सकता है| संसार से भागना संभव नहीं | पर कुछ एकांत अवश्य संभव है| इस एकांत से अध्यात्म जीवन में उतरता है| जो ज्ञान पुस्तकों से नहीं मिल सकता है, वह ईश्वर के साथ बिताएं कुछ शांत पलों से मिल सकता है|

आज ऐसेही कुछ एकांत और एक शांत पलों की बातें,


खामोश खामोश आजकल 
यह आवाज है खामोश आजकल
खुशी, गम या मुस्कुराहट 
   ख़ामोशी ही है मेरी आवाज आजकल
हर लम्हा, एक एहसास तनहा 
ख़ामोशी का ही है साथ आजकल
मायूस हर पल एक डर हलकासा 
ख़ामोशी ही है दोस्त आजकल
वह खुशी कैसी थी, यह डर कैसा है
   ख़ामोशी में ही यह आनंद कैसा है
सपनों के पीछे दौडते गए हम
आजकी खुशी भूलते गए हम 
अब भागना छोड दिया है 
ख़ामोशी का हाथ थाम लिया है
सारी चिंता सारा डर 
आज ख़ामोशी को ही दे दिया है 
ख़ामोशी में ही निकला दिल का दर्द 
और 
ख़ामोशी में ही निकला मन का चैन 
ख़ामोशी ने कर दिया तृप्त यह जीवन 
ख़ामोशी ने मिला दिया ईश्वर से
ख़ामोशी  ने मिला दिया राघव से 
यह खामोश पल
जिन्होंने जिंदगी बदल दी
यह खामोश पल 
जिन्होंने तनहाई मिटा दी 
यह खामोश पल 
जिन्होंने मुझे मेरी चाहत मिला दी 
यह ख़ामोशी और यह खामोश पल 
एक  अजीब सा नशा एक अजीब सी हलचल
यह ख़ामोशी एक शांति अविचल 
यह खामोश पल, बस यह खामोश पल 
यह खामोश पल



6 टिप्‍पणियां:

  1. bahut khub....i loved it..its like a song to me......sad songs...with true meaning...its rare nowdays...

    उत्तर देंहटाएं
  2. Mohini,,,,,,,,,,,,,,,
    aapki soch me pardarshita hai jo aapko bilkul alag sochne ke liye sath deti hai.......God bless su keep it up.

    उत्तर देंहटाएं
  3. अर्चनाजी स्वागत आपका चैतन्यपूजा में| आपके विचार के लिए, ह्रदय से आभार| :)

    उत्तर देंहटाएं
  4. mohini ji aapki ye khamoshi kahi tanhai ki aur ishara karti hai.vada kiya tha aapse aapke blog par milna hoga islie aj mn banakar aai hu aur jitni bhi post padhne se rah gai koshish karungi sab padhu.

    उत्तर देंहटाएं
  5. bahut hridyasparshi,' khaamoshi" pe sab chintaa, daal di, said many things in unsaid words.

    उत्तर देंहटाएं

चैतन्यपूजा मे आपके सुंदर और पवित्र शब्दपुष्प.........!