Search

22 सितंबर 2011

हँसता हुआ चंदा

पूनम के चन्द्रमा का सौंदर्य ऐसा होता है की कोई भी कवी बन जाएँ चन्द्रमा के सौंदर्य पर आज तक कितनेही महान कवियों ने अनुपम रचनाये की है 

एक दिन ऐसेही चन्द्रमा के सौंदर्य ने मुझे भी मोह लिया और एक नयाही भाव ह्रदय से प्रस्फुटित हुआ, यह भाव अंग्रेजी में मेरे The Smiling Moon स काव्य में अभिव्यक्त हुआ है, इसी भाव की यह हिंदी अभिव्यक्ति, माँ शारदे की कृपासे एक ही काव्य विभिन्न भाषाओं में प्रस्तुत हो रहा है 
आपने अंग्रेजी काव्य को बहुत सराहा है, आपको हिंदी भाव भी अवश्य अच्छा लगेगा

14 सितंबर 2011

नमन हे हिंदी भाषा

आज १४ सितम्बर हिंदी दिवस के रूप में मनाया जा रहा है| आप सबको हार्दिक शुभकामनाएँ| हम सब यहाँ हिंदी की पूजा में जुड़ें हैं, आज माँ शारदा का रूप हिंदी भाषा को नमन| 

हिंदी में उर्दू का मिश्रण उचित नहीं| आज कल यह असंभव सा प्रतीत होता है, उर्दू बिना हिंदी| परन्तु हम प्रयत्न कर सकतें हैं| 

हर भाषा की अपनी गरिमा होती है| केवल उर्दू हो तो उसकी अपनी खूबसुरती  है|

हिंदी तो संस्कृत से निर्मित दैवी वाणी है|  

आप एक वाक्य उर्दू मिश्रण से, या अंग्रेजी मिश्रण से और वही वाक्य संपूर्ण हिंदी में उच्चारण करके देखिये| एक विनम्रता और शालीनता का अनुभव होता है, सम्पूर्ण हिंदी से|